नवरात्र मैं कैंसे प्रसन्नत होती है माता, क्या है सही नियम : पढ़िए

नई दिल्ली, नवरात्रि पूजन के लिए कई तरह की सामग्री लगती है। आएये जानते हैं वो कौन सी सामग्रा है जिसे आपतो नवरात्रि शुरु होने से पहले खरीद लेना चाहिए।

मां दुर्गा के नौ रुपों की पूजा के लिए माता की तस्वीर या मूर्ति, मां को स्थापित करने के लिए चौकी, चौकी पर बिछाने के लिए लाल या पीला कपड़ा, माता को चढ़ाने के लिए चुनरी, साथ ही दुर्गासप्तशती की किताब। इसके अलावा कलश, ताजा आम के पत्ते, फूल, एक जटा वाला नारियल, पान, सुपरी, लौंग, इलायची, कपूर, रोली, सिंदूर, मौली, चावल आदि रख लें।


नौ दिनों तक अखंड ज्योति जलाने के लिए पीतल या मिट्टी का साफ दीपक, घी, रुई या बत्ती, रोली या सिंदूर आदि रख लें।

नौ दिन तक हवन के लिए हवन कुंड, आम कीलकड़ी, रोली, काले तिल, चावल, जौ, धूप, चीनी, पांच मेवे, लोबान, गुग्ल, लौंग की जड़, कमल गट्टा, सुपारी, कपूर, शुद्ध जल आदि।

नवरात्रि शुरु होने वाली है और इसकी तैयारी मेंलोग अभी से जुट गए हैं। लोग नवरात्रि के इस पर्व के लिए अलग-अलग तैयारियों में लग गए हैं। मां दुर्गा के इस पवित्र त्योहार पर स्थापना करने से पहले घर की सफाई करना बहुत जरूरी है। तो आइये आपको बताते हैं कैसे करें नवरात्री से जुड़ी सफाई और तैयारियां…

1. मंदिर को अंदर और बाहर से अच्छे से साफ कर लें।

2. भगवान की मूर्तियों को नींबू या पितांबरी से रगड़ कर साफ कर लें इससे वह चमक आ जाएगी।

4. भगवान के पहनाए कपड़े और पर्दे या अन्य चीजों को धोकर सुखा लें।

5. हो सके तो सारे मंदिर में स्थापित भगवान की मूर्तियों को नए वस्त्र व आभूषण भी पहनाएं।

6. सुबह के समय भगवान की पूजा में देरी न हो इसके लिए रात को ही सारी तैया‍री व पूजा की सारी सामग्री इक्ठ्ठा कर मंदिर के बाहर ही रख दें। इससे आपको सुबह उठकर ज्यादा परेशान नहीं होना पड़ेगा।

English
English