पितृ पक्ष के समय भूलकर भी ना करें ये काम, नहीं तो होगा बुरा

पितृपक्ष (Pitru Pakash) यानी की श्राद्ध (Shradh) में अब सिर्फ 10 दिन बाकी रह गए हैं। इस बार पितृ मावस 13 सितंबर 2019 के दिन पड़ रहा है। इतना ही नहीं पितृ पक्ष के दौरान पितृों और पूर्वजों के पिंडदान (Pinddan) की विशेष महत्वता है।
ऐसा माना जाता है कि जो भी पितृ पक्ष के दिन विधिपूर्वक पूजा करता है तो जल्द ही पितृों को मोक्ष की प्राप्ति हो जाती है। 10 दिनों तक चलने वाले पितृ पक्ष में पूर्वजों की आत्मा की शांति के लिए पूजा की जाती है इतना ही नहीं इसमें कुछ बातों का विशेष रूप से ध्यान भी रखना होता है।

अगर श्राद्ध के दौरान पितृों और पूर्वजों के लिए की गई पूजा विधिपूर्वक ना हो तो इससे उनकी आत्मा (Soul) अशांत रहती है और मृत्युलोक (Mrityulok) में उन्हें जगह नहीं मिलती है। आइए जानते हैं कि पितृ पक्ष के दौरान किन बातों का विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए।



पितृ पक्ष पर करें पिंडदान

पितृपक्ष पर किया गया पिंडदान पितृों की आत्मा को शांति दिलाता है यदि श्राद्ध में पिंडदान विधिपूर्वक नहीं किया जाए तो इससे वह नाराज रहते हैं और उनकी आत्मा भटकती रहती है।

10 दिनों तक नहीं खरीदते नया सामान

पितृ मावस के दौरान इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि करीब 10 दिनों तक कोई भी नई चीज जैसे, कपड़े, बर्तन, गाड़ी सामान आदि नहीं खरीदना चाहिए। धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक इससे अशुभ माना गया है और ऐसा करने से पितृ व पूर्वज क्रोधित हो जाते हैं।

इन चीजों का सेवन है वर्जित

श्राद्ध के दौरान इंसान को करीब 10 दिनों तक ध्रुमपान, शराब, मदीरा, मांस, प्याज, लहसून जैसी आदि चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे पितृों का आर्शिवाद आपको नसीब नहीं होता है, साथ ही घर पर सुख समृद्धि का वास भी नष्ट हो जाता है।

पितृपक्ष पर ना कटाए दाढ़ी और बाल

पितृपक्ष के दौरान इस बात का खास तौर पर ध्यान रखना चाहिए की करीब 10 या 15 दिनों तक पुरूषों को दाढ़ी और बालों को नहीं कटवाना चाहिए। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार ऐसा करने से घर पर आर्थिक तंगी हो सकती है और धन की हानि को भी झेलना पड़ सकता है।