तेलंगाना में गाजे-बाजे के साथ निकाली गधे की बारात, कराई शादी

दिल्ली, मई जून की तपती गर्मी के बाद अब जाकर सावन का मौसम आया है। सावन के मौसम शुरू होते ही देश के अलग-अलग हिस्सों से भारी बारिश का मंजर देखा जा रहा है। जहां लोगों के लिए बारिश राहत की सांस बनकर आया है, वहीं कुछ जगहों पर ये तबाही मचा रहा है। हर जगह भारी बारिश (Heavy Rainfall) के चलते बाढ़ (Flood) जैसे हालात पैदा हो चुके है, लेकिन अभी-भी कुछ जगह ऐसी हैं जहां बारिश ना होने के चलते अकाल पड़ गया है।



आपने कई बार ऐसा सुना होगा कि बारिश ना आने पर लोग बाल मुंडवा देते हैं, महिलाएं नग्न होकर खेतों में हल चलाती हैं, और कुछ लोग तो दुल्हे (Groom) की बारात भी निकालते हैं लेकिन घोड़े पर नहीं बल्कि गधे पर। जी हां, गधे पर निकाली जाती है दुल्हे की बारात, लेकिन क्या हो की अगर दुल्हे की जगह गधे की बारात निकाली जाए। वैसे तो सुनने में ये काफी अजीब और अटपटा लगता है लेकिन कुछ जगहों पर आज भी बारिश ना आने से लोग टोटके के तौर पर गधे और गधी की शादी कराते हैं।

हालांकि, ये शादी बहुत साधारण तरीकों से की जाती है, लेकिन तेलंगाना के इस शहर में गधे की बारात (Donkey Marriage) बिल्कुल एक इंसानी दुल्हे के बारात की तरह ही निकाली है। बता दें कि, तेलंगाना (Telangana) के बोवनपल्ली के नल्ला पोचम्मा मंदिर में दो दिनों पहले एक गधे और गधी की शादी कराई गई है। इस टोटके का महत्व ये है कि कमजोर बारिश के चलते लोग गधे और गधी की शादी कराते हैं सिर्फ इंद्रदेव को प्रसन्न करने के लिए।

इतना ही नहीं, गधे की शादी में नाच-गाना भी हुआ, दुल्हे और दुल्हन को कपड़ें पहनाये गए और गाजे-बाजे के साथ दुल्हे की बारात भी निकाली गई। लोगों के मुताबिक बारिश ना आने पर यह टोटका जरूर मदद करता है। इससे पहले भी इस टोटके के जरिए मूसलाधार बारिश हुई थी। वहीं मौसम विभाग की मानें तो दक्षिण पश्चिम में मानसून इस बार जून के दूसरे हफ्ते में ही दस्तक दे चुका है लेकिन अभी भी बारिश की स्थिती थोड़ी कमजोर है।